Wednesday, January 4, 2012

ये जिंदगी है

ये जिंदगी है मेरी
ये जिंदगी है कुछ नमकीन कुछ मीठी
कुछ टशन से भरी कुछ मगन से भरी
ये जिंदगी है मेरी जज्बातों से भरी
अरमानो से सजी मुसीबतों से थकी
कभी फूलो से महकती
कभी सपनो से बहलती
ये जिंदगी है मेरी
जब हुआ जमाने से परेशान
तो थी साली जिंदगी
जब हारा तो थी चिढाती जिंदगी
जब हु जीतता तो मुस्कराती जिंदगी
ये जिंदगी है मेरी
जिंदगी जिन्दादिली का नाम है
या मुर्दों से बेईमान है ये जिंदगी
रोते हुओ को हसाती जिंदगी
हँसते हुओ को रुलाती जिंदगी
ये जिंदगी है मेरी ये जिंदगी है मेरी
आशीष त्रिपाठी

Posted By Ashish TripathiWednesday, January 04, 2012