Saturday, December 18, 2010

देश के लिए मिसाल कानपुर पुलिस

Filled under:

देश के लिए मिसाल कानपुर पुलिस

कानपुर में बदते क्राइम पर लगाम न कस पाने के कारण डी .आई. जी प्रेम प्रकश का तबादला कर दिया गया और उनकी जगह आए नए डी. आई .जी मुथा अशोक जैन जिन्होने आते ही शहर का हाल चाल लिया और फिर सीधे जनता से जुडने का माध्यम बनाया फेस बुक को . लेकिन चोरों ने लगातार वारदातें कर उनके इरादो को हिलाने की पुरजोर कोशिश भी की लेकिन मुथा अशोक जैन ने जो सोचा था उसको करने की ठान रखी थी . लेकिन अखबारों की हेडिंग दिन प्रतिदिन बदलती जा रही थी " डी आई जी साहब फेस बुक पर चोर घरो पर " डी आई जी को चुनोती दे चोर हुए हाई टेक " और चोरो ने उडाए लैपटॉप " अदि शीर्षक अखबारों के पन्नो पर देखने को मिल रहे थे इसी बीच डी. आई .जी मुथा अशोक जैन ने सभी थानों के थानेदारो की मीटिंग कर आदेश दिया की सभी थानेदार को थाने के नाम पर आई. डी बना कर फेस बुक पर जुडने के लिए कहा गया ताकि लोगो का सीधा जुडाव पुलिस से हो सके क्योंकि हर आदमी थाने जा कर शिकायत दर्ज करने पर हिचकिचाता है और जहा तक हो बचता ही है थानों के चक्कर लगाने से ।

इस दिशा में सबसे पहले उत्तर प्रदेश के कानपुर शहर के नौबस्ता थाने को फेस बुक से जोड़ा गया . लेकिन डी. आई .जी मुथा अशोक जैन की इस व्यवस्था में भी लोगो ने कहा की जिन थानों में कंप्यूटर व्यवस्था नहीं है वो क्या करेंगे और जिन थानेदरो को कंप्यूटर और इन्टरनेट की जानकारी नहीं है वो क्या करेंगे ?.लेकिन डी. आई .जी मुथा अशोक जैन ने मीटिंग में साफ कहा की फेस बुक पर जुडने मात्र से काम नहीं चलेगा जो भी फेस बुक पर शिकायत दर्ज करेगा उसको तुरंत ही कन्फर्म करके उस पर कार्यवाही की जाय जिससे जनता का विश्वास हम पर बढेगा और जनता हमें सहयोग भी करेगी.

इस दिशा में कोहना थाना ने अभूतपूर्व कार्य किया और कोहना थाने के थानेदार अलोक मणि त्रिपाठी ने फेस बुक पर ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर के पूरे यू प़ी ही नहीं देश में कानपुर पुलिस के हाई टेक होने का लोहा मनवा दिया और डी. आई .जी मुथा अशोक जैन के मजबूत इरादों को बल भी मिला ...

फेस बुक पर लोगो को शिकायत दर्ज करने के लिए सम्बंधित थाने का नाम लिखकर एस ओ लिख कर सर्च करना होगा ....डी. आई .जी मुथा अशोक जैन ने बताया की आम आदमी तो छोटी मोटी या बड़ी शिकायत लेकर थाने में चला जाता है लेकिन कार्पोरेट कल्चर और स्टुडेंट्स थाने जाने से घबराते है खास कर महिलाएं और लडकिया .और वही कानपुर एजुकेशन हब बन चुका है और यहाँ पर प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे और इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे स्टुडेंट्स थाने जाने से तब तक बचते हाई जब तक की उनके साथ बड़ी घटना न हो जाए

डी. आई .जी मुथा अशोक जैन ने बताया की इस फेस बुक के पेज को नियमित चेक भी करेंगे और थानेदारो को भी चेक करने के लिए कहा गया है .शहर के पहले तीन थानों को फेस बुक पर जोड़ा गया है पश्चिम मध्य और साऊथ इसके बाद एक एक करके सभी कानपुर के 44 थानों को फेस बुक पर जोड़ा जायेगा लोगो को इस बात की जानकारी देने के लिए की सम्बंधित थाने फेस बुक पर जुड़ चुके है के लिए मेसेज और न्यूज़ के माध्यम से बताया जा रहा है इस व्यवस्था से अधिकारी भी सीधे किन शिकायतों और क्या कार्यवाही हुई जान सकेगा ..वही शहर की जनता इस नई जमाने की पुलिसिया कार्यवाही से काफी खुश नज़र आ रही है क्योंकि इस सुविधा का लाभ सभी को मिलेगा और पुलिस भी जमाने के साथ चलेगी .

इस कदम का लाभ उठाया सबसे पहले कानपुर के चमन गंज निवासी ताबिश अहमद ने जो की गंगा बैराज से अपने घर जा रहे थे और सड़क में वेंडी तिराहे के पास उनका बैग गिर गया और उसमे कई जरुरी कागजात थे उस समय शाम के तीन बज रहे थे और ताबीज ने हाई टेक पुलिस का लाभ उठाया और तुरंत ही फेस बुक पर कोहना थाने में शिकायत दर्ज करवा दी.जिस पर की कोहना थानेदार अलोक मणि त्रिपाठी ने तुरंत ही सम्बंधित नम्बर पर फ़ोन करके कन्फर्मेशन किया कन्फ़र्म होते ही शिकायत दर्ज कर ली ..

ताबिश ने इस तरह फेस बुक पर लिखा था
Tabish Ahmed

* Mark as Spam
* Report as Abuse

Tabish Ahmed Dear Sir,
Respectfully i inform to you.

I am coming from ganga bairaaj to my home at near your poclie station at wendy tiraha. i lost my bag, in my bag some important documents so please register my complain in your police station and inform me.

...Name: Mohammad Tabish
Father`s Name Mr. Badrudduja
Add : 88/326 Chaman ganj Kanpur 208001
Mobile no: 9889714576
See MoreDecember 10 at 3:१२प्म


इसका जवाब भी तुरंत ही कोहना थाने ने दिया जो इस प्रकार था


Kohana Kanpur Police
dear tabish
your complain has been registered at my police station..
The inquiry officer of this case is
Sub inspector pradeep kumar rai..
his mobile number is 9452434098.
...any time u contact me or my officer.
thank you.See More
December 10 at 3:46pm
इस बात से ताबिश तो खुश ही और डी आई जी मुथा अशोक जैन ने नई इबारत भी कानपुर शहर पर लिख दी साथ ही शहर की जनता को विश्वाश भी हो गया की अब हम भी ऑनलाइन शिकायत दर्ज करवा सकते है..


(पुलिसवाला के लिए कानपुर से आशीष त्रिपाठी की रिपोर्ट
9307950278 )
सआभार पुलिसवाला.इन वेब साईट (http://policewala.in/article-detail.php?ArticleID=603&CategoryID=२१)

Posted By Ashish TripathiSaturday, December 18, 2010